बुधवार, 27 नवंबर 2013

हनुमान मंदिर चलिया भाग 12.

आज वीरवार है .... 7.11.2013...
आज भी कार्यदिवस है ,आज 7.10 पर निकली हूँ ...
मेट्रो स्टेशन पर ऊपर पहुँचने के लिए 30 सीढियां पहले चढती हूँ ,वैसे दूसरी साइड से अगर जाते हैं तो वहां लिफ्ट उपलब्ध है .....
फिर वहां चेकिंग और टोकन गेट से निकल कर 30 सीढियां और चढ़ती हूँ ,यहाँ से लिफ्ट भी है जो प्लेटफ़ॉर्म तक जाती है ....
देरी की वजह से आज मेट्रो स्टेशन पर भीड़ ज्यादा बढ़ गई है |
ठीक लगभग 35 मिनट में राजीव चौंक पहुँच गई हूँ ..अब बाहर जा रही हूँ .... 
बाहर जाने के लिए एक स्वचालित सीढियां हैं और एक दूसरी हैं जो 40 सीढियां हैं .....
यहाँ से ज्यादातर स्वचालित सीढियां ही लेती हूँ  .....
यहाँ से 9 मिनट की दूरी पर है हनुमान मंदिर ... एक चौंक पार करना पड़ता है ...
लो पहुँच गई हूँ .....
आज गर्भ गृह के अन्दर बाकी तस्वीरों के बारे आपको बताती हूँ ...
श्री राम , सीता और लक्ष्मण की तस्वीर के बगल में है राधा कृष्ण की मनमोहक तस्वीर ...



राधा कृष्ण 

और इसके बगल में है अंजनी माँ के साथ हनुमान बाल रूप में ..
इसके ठीक आगे है एक छोटी तस्वीर में हनुमान पर्वत उठाये हुए हैं ..... 


 
हनुमान पर्वत उठाये 

हनुमान की मुख्य प्रतिमा के साथ एक लोहे का डंडा और फट्टा सा लगा है जिस पर नारियल तोड़ा जाता है ,इसे नारियल तोड़ने का उपकरण भी कह सकते हैं |



नारियल तोड़ने का स्टैंड 

माथा टेक कर बाहर आ गई हूँ .....
मेट्रो ले ली है ....और पहुँच गई हूँ घर... पैदल चलते हुए ....
मिलते हैं कल मंदिर की कुछ और झांकिओं के साथ ...

हनुमान मंदिर चलिया भाग 13. क्रमशः....
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...