मंगलवार, 16 अप्रैल 2013

'मेरा आपकी कृपा से'[विनोद अग्रवाल ]

गम मेरे साथ बड़ी दूर तक गए 
पर जब पाई न मुझमें थकान तो वे खुद थक गए 


1 टिप्पणी:

  1. विनोदजी का जवाब नहीं | क्या गाते हैं |

    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...